राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम

NATIONAL COOPERATIVE DEVELOPMENT CORPORATION

ISO 9000: 2008 प्रमाणित संगठन

                

सहकारी आन्दोलन का हमारे देश में एक लंबा इतिहास है और आज भारत का सहकारी आन्दोलन विश्व में सबसे बडा है । इस बृहद सहकारी नेटवर्क की राष्ट्रीय स्तर पर सहायता करने के लिए राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम एक अद्वितीय संगठन है । संसद के एक अधिनियम के तहत स्थापित रा..वि‍.नि‍. कृषि तथा ग्रामोन्मुखी कार्यकलापों में सहकारिताओं के संवर्धन एवं विकास में संलग्‍न है। इसके अधिनियम में अभी हाल ही में संशोधन किया गया है ताकि यह सेवा क्षेत्र, ग्रामीण उद्योगों, पशुधन आदि जैसे क्षेत्रों में सहकारिताओं का  वि‍त्‍तपोषण कर सके । इस प्रकार रा.स.वि.नि. अपने कार्यो के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सहकारी क्षेत्र की सहायता के लिए निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है ।

 

             मुझे आशा है कि रा.स.वि.नि. की वेबसाइट  रा.स.वि.नि.  की स्कीमों की सूचना   प्रदान के अलावा समग्र रूप में सहकारी क्षेत्र में गहन रुचि भी सृजि‍त करेगी

 

 

कृषि‍  एवं  कि‍सान  कल्‍याण  मंत्रालय  ,

अध्यक्ष, सामान्य परिषद्, रा.स.वि.नि.

गृह 

संदेश

उत्‍पति‍ एवं  कार्य

वित्त एवं वित्त पोषण

एनसीडीसी द्वारा वित्त पोषि‍त कार्यकलाप

एनसीडीसी  के  अन्‍य  कार्यकलाप

सफल सहकारि‍ताएं

आयोजन एवं प्रस्‍तुतीकरण ‍

नई योजनाएं

संपर्क     

अक्‍सर पूछे जाने वाले प्रश्‍न

प्रधान कार्यालय के प्रभारी अधि‍कारि‍यों की सूची

क्षेत्रीय नि‍देशालय

लंबि‍त प्रस्‍ताव

वर्ष के दौरान मंजूरि‍यॉं

वर्ष के दौरान वि‍मुक्‍ति‍यॉं 

आवेदन पत्र, सहायता का पैटर्न, ब्याज दर, प्रत्यक्ष वि‍त्‍त पोषण के लिए दिशा - निर्देश, परियोजना रूपरेखाएं, योजनायें, आदि

रोजगार के अवसर

नि‍वि‍दायें

एन.सी.डी.सी के अधिनियम, नियम और विनियमन

सूचना का अधि‍कार अधि‍नि‍यम

सेवानि‍वृत कर्मचारि‍यों के लि‍ए  - नई      

जनहित प्रकटीकरण और मुखबिर के संरक्षण (PIDPI) पर भारत सरकार के संकल्प

नई: एनसीडीसी की आईसीआरए क्रेडिट रेटिंग

 

English Translate